Best Love Shayari In Hindi - Indian Shayari - Love Shayari in Hindi | Sad Shayari in Hindi

Latest

Friday, 29 December 2017

Best Love Shayari In Hindi

Best Love Shayari In Hindi : Hello dosto.. aaj ke is post me hum aap logo ke sath share karne ja rahe hain Love Shayari In Hindi. Pyar ek bahut hi khubsurat ehsaas hota hai or kabhi kabhi use seedhe lawzo me kisi ko bayan karna bahut hi mushkil hota hai. Har koi apne dil ki bat seedhe lawzo me kehne ki himmat nahi rakhta islie jab hume kisi ko apne dil ka haal batana hota hai to hum log love shayari in hindi ka sahara lete hain. Shayari humare is kaam ko bahut hi zada asaan kar deti hai or humare dil ki bat ko humare chahne walo tak bahut hi asaani se pahucha deti hai. To aaiye dosto padhte hain love shayari in hindi. Post pasand aane par apne friends or relatives ke sath zarur share kare.

Love Shayari In Hindi


Love Shayari In Hindi

दिल की खिड़की से बाहर देखो ना कभी
बारिश की बूँदों सा है एहसास मेरा…
घनी जुल्फों की गिरह खोलो ना कभी
बहती हवाओं सा है एहसास  मेरा….
छूकर देखो कभी तो मालूम होगा तुम्हें
सर्दियों की धूप सा है एहसास मेरा ।

जाने क्यूँ आजकल, तुम्हारी कमी अखरती है बहुत
यादों के बन्द कमरे में, ज़िन्दगी सिसकती है बहुत
पनपने नहीं देता कभी, बेदर्द सी उस ख़्वाहिश को
महसूस तुम्हें जो करने की, कोशिश करती है बहुत
दावे करती हैं ज़िन्दगी, जो हर दिन तुझे भुलाने के
किसी न किसी बहाने से, याद तुझे करती है बहुत
आहट से भी चौंक जाए, मुस्कराने से ही कतराए
मालूम नहीं क्यों ज़िन्दगी, जीने से डरती है बहुत।


“जाम पे जाम पीने से क्या फायदा,
शाम को पी सुबह उतर जाएगी,
अरे दो बूंद मेरे प्यार की पीले,
जिन्दगी सारी नशेमे गुज़र जाएगी”

Jaam pe jaam pine se kya fayda
Shaam ko pee subah utar jayegi
Are 2 boond mere pyar ki pee le,
Zindagi sari nashe me gujar jayegi

Main aadat hu uski, woh zarurat hain meri,
Main farmayish hu uski, woh ibadat hai meri
Itni aasani se kaise nikal du use apne dil se,
Main khwab hu uska woh hakikat hain meri

Raat aati hain teri yaad chali aati hain
Kis shahar se teri aawz chali aati hain
Chand ne khub saha h suraj ki agan
Teri ye aag mujse nahi sahi jati hain
Dil me utari hai teri dard bhari aankhe
Meri aankho me wahi pyas jag jati hai
Humne dekha tha khud ko teri surat me
Aayina dek kar ab raat kat jati hain


लबो से चाहत की खुशबू चुराने दो
बहुत हो गया सितम, अब तो पास आने दो
ना करना जुबां से इज़हार मोहब्बत का…
बस इशारो से ही राज़-ए-दिल की बात बताने दो
हो मेहबूब तुम्हारे जैसा हसीन तो मुमकिन हैं
देख कर तुमको निगाहो में खुमार भर जाने दो
है गुज़ारिश नहीं संभालता ये इश्क़ हमसे
अब तो टूट कर बाहो में बिखर जाने दो

Aankhe dil ka har raaz bayan karti thi
Bas unko padhne wala dil koi chahiye
Ishq kaa toh rasta bahut hi muskil hain
Bas use manjil tak pahuchane wala chahiye
Hosle ho buland to khuda bhil mil jata hain
Bas un hoslo ko zinda rakhne wala chahiye

दर्द की जब कभी इन्तहा होती हैं
दवा की जरुरत फिर कहाँ होती हैं
तन्हाई, बेचैनी और बस कुछ आहें
इनमे पल कर ही मोहब्बत जवां होती हैं

तेरी दुआओं का असर है, जो अब तक मैं सलामत हूँ.!
तेरी आँखों की नमी नहीं, हाथों की लकीरों में बस्ता हूँ
मैं जानता हूँ जान-ए-जहाँ, तुझे बस मोहब्बत है मुझ से
तेरी साँसों की राह पकड़…., तेरी रूह में बस्ता हूँ….|


मिटा दो अब तो रंजिशो को सारी,
यूँ रूठ कर कब तक तडपाओगी हमें
सुनो ना, जान थे हम भी कभी तुम्हारी,
कब तक साँसो से दूर रखपाओगी हमें

मुझसे वादा करो मुझे रुलाओगे नहीँ
हालात जो भी हो मुझे भुलाओगे नहीं
छुपा के अपनी आँखों में रखोगे मुझ को
दुनिया में किसी और को दिखाओगे नहीं
मेरे लफ़्ज मेरे दिल की तहरीरें हैं…,
कसम उठाओ इन को कभी जलाओगे नहीं

मुझे ये यकीन दिलाओ मुझे याद रखोगे
मेरी यादों को अपने दिल से मिटाओगे नहीं


जाने क्यों, वो मेरी उम्मीद की डोर टूटने नही देता,
बस और दो कदम साथ चलने का वास्ता देकर,
वो मुझे कभी भी रुकने नही देता……!!
बात करता है, वो हंस-हंस कर, खुश रहने की
वास्ता देकर अपनी खुशी का, वो मुझे रोने नही देता.
बढाता है होंसला मेरा, की हर पल मेरे साथ है,
वास्ता देकर अपने साथ का, वो कभी मुझे अकेला होने नही देता
कहता है, ज़िन्दगी जीने का नाम है,
वास्ता देकर ज़िन्दगी का, वो मुझे मरने नही देता !

समंदर से भी गहरी है,
मेरे यार की आँखें….!!
नदियों से भी लहरी है,
मेरे दिलदार की आँखे,
खो जाता हूँ इन नैन में,
जो फूल सी सुन्दर है
मेरे प्यार की आँखे..!!
कभी उठता हूँ, कभी गिरता हूँ
जाम से भी नशीली है,
मेरे जाने बहार की आँखे.
जल जाता हूँ इन बहारों में,
ज्वाला मुखी से भी तेज़ है,
मेरे दिलबहार की आँखे….!
डूब जाता हूँ इन नज़रों मैं,
ऐसी है मेरे तलबदार की आँखे

Ishq ke fitoor mein hum deewane se ho gaye
Uski aankho ki kashish me es kadar kho gaye
Apne aap se to hum kb ke anjaane se ho gaye
Ab Junoon sa chhane laga hain Mohabbat ka
Tere husan k jalwo k hum deewane se ho gye

Ek aas, ek ehsaas, meri soch aur bus tum,
Ek sawal, ek majaal, tumhara khayal or bs tum,
Ek baat, ek shaam, tumhara sath or bus tum,
Ek dua, ek faryad, tumhari yaad or bus tum,
Mera junoon, mera sukoon bus tum or bus tum

The day you fall in love with someone,
You think is the happiest day of your life,
But in actual you become the weakest person
Who can’t live without someone..!!

Take my eyes but let me see you,
Take my mind but let me think about you
Take my hand but let me touch you
But don’t try to take my heart
Because its already with you….!!

Es dil ka kaha mano ek kaam kar do..
Ek be-naam si mohabbat mere naam krdo
Meri zaat par faqat itna ehsaan kar do..
Kisi din subah ko milo, or shaam kar do..!!

I never searched but I found you
I never asked but I have you
I never wished for anything but it come true
I just want to thank God
For Giving me such a lovely wife like you..!

Agar main had se guzar jau toh muje maaf karna,
Tere dil mein utar jau toh mujhe maaf karna,
Raat mein tujhe dekh ke tere deedar ki khatir,
Pal bhar jo theher jaun toh mujhe maaf karna…!!

To see you smile,
I will walk many a mile.
To hear you talk,
Hundred miles will I walk.
To touch your hand,
I will cross seven seas and land.
You are my love, life
And everything that I own. wife

Tere haath ki main wo lakeer ban jaun,
Sirf main hi tera muqadar teri taqdeer ban jaun,
Main tujhe itna chaho k tu bhool jaye har rishta
Sirf main hi tere har rishte ki tasveer ban jaun,
Tu ankhein band kare to aaun main hi nazar,
Es tarah main tere har khawab ki tabeer ban jau.

Love is like a cloud, love is like a dream
Love is one word & every thing in between
Love is fairytale come true
Because i found love when I found you..!

Sawal kuch bhi ho, jawab tum hi ho
Rasta koi bhi ho, manzil tum hi ho
Dukh kitna hi ho, khushi tum hi ho
Arman kitne bhi ho, aarzoo tum hi ho
Gussa kitna bhi ho, pyar tum hi ho,
Khawab koi bhi ho, us me tum hi ho
Kyunki tum hi ho…!! Ab tum hi ho,
Meri ashiqi ab tum hi ho….!!!!!

Agar tum kaho toh main phool ban jau
Zindagi ka tumhari ekk usool ban jaau
Suna h ki rait par chalne se tum mehak jate ho
Kaho toh abke jameen ki dhul hi ban jaau
Nayaab h wo log jinhe tum apna kehte ho
Izazat do ki main bhi ess qadar anmol ban jau

Sirf meri hi nazre ho humesha unpe
Koyi aur aankhein unka deedar na kare
Meri muhabbat ki ho shiddat itni gehri
K bhool se b vo kisi aur se ishq na kare

हलकी हलकी जल की बूंदे, जब लेकर आते है बादल
मन मसोस कर रह जाती हूूँ, बह जाता है मेरा काजल
कैसे है ये बैरी बादल, पूछ रहा है ये मेरा आँचल..
आसमान भी कह रहा है, ये निर्मोही है काले बादल
कड़कड़ाहट आवाज़ से, प्रेमियों को कर देता है पागल
काली घटा जब छट जायेगी, जब समझेगे ये बादल
हमारी इल्तिज़ा है तुमसे, जरा रूक कर बरसों बादल
प्रेमी जब मेरा आ जाए, फिर जम कर बरसों  बादल

साथ तेरा जो मिला तो दिल में सुकून सा लगने लगा
तेरा ना छोड़ेंगे साथ कभी हर पल ख़्वाब सजने लगा
नहीं पता था ज़िन्दगी क्या होती हैं तुझसे मिलने से पहले
तुम आये ज़िन्दगी में मेरी तो सोया अरमान मचलने लगा
तुम ही से तो जुडी हैं अब हर खुशिया मेरी जानेमन
तुम्हारी छुहन से मेरा हर लम्हा अब महकने लगा
पता ना चला कब कौन सी डोर तेरी ओर खिंच लायी
तेरा साथ पाकर मेरा हर लम्हा खूबसूरत बनने लगा

कुछ तुम कहो, कुछ हम कहे
और एक कहानी बन जाये
एक रोज़ पड़ेंगे लोग इन्हे
और मिसालें हमारी बन जाये

दिल में अलग सा ये शोर क्यों हैं
उलझी तेरे मेरे रिश्तो की डोर क्यों है
जरा गौर से देख तो सही तेरे हाथो में
मेरे प्यार की छोटी सी लकीर हैं
फिर तेरी उम्मीद इतनी कमजोर क्यों है
जब भी पलके बंद की हैं मेने
बस तेरा ही खयाल आया है ख्वाबो में
जरा सोच तो सही मुझ पर सिर्फ तेरा ही सरूर क्यों है
जब भी नजरें मिलायी हैं तुजसे तेरी नजर झुकी ही रही
तू इश्क़ नहीं करती मुझसे
तो तेरी आँखें चोर क्यों है
तेरे इश्क़ की गहरायी और मेरे इश्क़ की तन्हाई
बस तेरे लबो में अरसो से कैद हैं
तो फिर तू इज़हार-ए-इश्क़ से दूर क्यों है

मोहब्बत में न जाने कैसी ये अनहोनी हो गयी
पता ही नहीं चला कब किस से मोहब्बत हो गयी
उन्होंने मेरे करीब आकर मुझे सीने से लगाया
मौसम हसीं होते ही बिन मौसम बरसात हो गयी
मेरे लबों को छू के प्यार का एहसास जगाया
जब लिया बांहो में मेरी दिल की धड़कन तेज हो गयी
उनके चेहरे की रौनक, नज़ारे नशीली देख मन बहका
उनको एक ही नजर देखा तो ये दिल इबादत हो गयी
हाथ थाम कर आज तुजसे ये वादा करते हैं सनम
की ये साँसे ये ज़िंदगानी अब सिर्फ तेरे नाम हो गयी

No comments:

Post a Comment