Hindi Me Shayari | Hindi Me Shayari - Indian Shayari - Love Shayari in Hindi | Sad Shayari in Hindi

Latest

Saturday, 10 June 2017

Hindi Me Shayari | Hindi Me Shayari

shayari hindi me,hindi me shayari,love shayari hindi me,shayari love hindi me,shayari hindi me love,shayari hindi me new,hindi shayari hindi me,hindi me shayari hindi me shayari,shayari com hindi me,hindi me love shayari,all shayari hindi me,new shayari hindi me,best shayari hindi me,hindi love shayari hindi me,shayari on love hindi me,hindi me shayari love,prem shayari hindi me, hindi me shayari

Hindi Me Shayari


बहाने बहाने से आपकी बात करते है,
हर पल आपको महसूस करते है,
इतनी बार तो आप साँस भी नही लेते होंगे,
जितनी बार हम आपको याद करते है..

परवाह उसकी कर जो तेरी परवाह करे ,
ज़िन्दगी में जो कभी तनहा ना करे ,
जान बन कर उतर जा उसकी रूह में ,
जो जान से भी ज्यादा तुझसे प्यार और वफ़ा करे..

दिल के पास आपका घर बना लिया ,
ख्वाबों में आपको बसा लिया ,
मत पूछो कितना चाहते हैं आपको ,
आपकी हर खता को अपना मुक्कद्दर बना लिया।

हर शख्स को दिवाना बना देता है इश्क,
जन्नत की सैर करा देता है इश्क,
दिल के मरीज हो तो कर लो महोब्बत,
हर दिल को धड़कना सिखा देता है इश्क..

कितने चेहरे हैं इस दुनिया में,
मगर हमको एक चेहरा ही नज़र आता है,
दुनिया को हम क्यों देखें,
उसकी याद में सारा वक़्त गुज़र जाता है।..

प्यार कहो तो दो ढाई लफ्ज़, मानो तो बन्दगी ,
सोचो तो गहरा सागर, डूबो तो ज़िन्दगी ,
करो तो आसान , निभाओ तो मुश्किल ,
बिखरे तो सारा जहाँ ,और सिमटे तो तुम..

आँखों में पानी रखो, होंठो पे चिंगारी रखो,
जिंदा रहना है तो तरकीबें बहुत सारी रखो,
राह के पत्थर से बढ के, कुछ नहीं हैं मंजिलें,
रास्ते आवाज़ देते हैं, सफ़र जारी रखो..

दिल में हर राज़ दबा कर रखते है,
होंठों पर मुस्कराहट सजा कर रखते है,
ये दुनिया सिर्फ़ खुशी में साथ देती है,
इसलिए हम अपने आँसूओं को छुपा कर रखते है..

राहे-ज़िन्दगी में यह कहानी सभी की है,
हमराज़ कोई और है, हमसफ़र कोई और है..

 दर्द का कहर बस इतना सा है,
के आँखें बोलने लगी ,आवाज़ रूठ गयी..

 कहाँ किस हाल में रहा तेरे रूठ जाने के बाद,
घर लौट ही आते हैं परिंदे मौसम बदल जाने के बाद..

मेरे अस्कों से भीगी हैं,
जाने कितनी तस्वीर तुम्हारी,
तुम झलक दिखाकर चली गयी,
और बदल गयी तकदीर हमारी..

No comments:

Post a Comment