Ads Top

Sad SHayari In Hindi

 

भीड़ भाड़ को छोड़ आए हैं बस तन्हाई भाई है.

वहां बहुत बेचैनी भोगी यहां खुमारी छाई है.

वो सवाल अब यहां नहीं हैं जिनके उत्तर मुश्किल थे.

जितनी हमने इच्छा की थी उतनी राहत पाई है.

 

दिल जब टूटता है तो आवाज नहीं आती!

हर किसी को मुहब्बत रास नहीं आती!

ये तो अपने-अपने नसीब की बात है!

कोई भूलता नहीं और किसी को याद भी नहीं आती!

 

जख्म तुम देते रहे, हम दवा करते रहे

आह हम भरते रहे, तुम सितम करते रहे

मेरा दावा है की, दीवाना रहेगा बन के

उसकी आँखों से अगर आँख मिला दे कोई.

 

ठोकर ना लगा मुझे पत्थर नही हूँ मैं,

हैरत से ना देख कोई मंज़र नही हूँ मैं,

उनकी नज़र में मेरी कदर कुछ भी नही,

मगर उनसे पूछो जिन्हें हासिल नही हूँ मैं.

 

मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है,

ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है,

देकर वो आपकी आँखों में आँसू,

अकेले में वो आपसे ज्यादा रोता है.

 

एक अजीब सा मंजर नज़र आता है,

हर एक आँसूं समंदर नज़र आता हैं,

कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना,

हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता हैं.

 

मुझे को अब तुझ से भी मोहब्बत नहीं रही,

आई ज़िंदगी तेरी भी मुझे ज़रूरत नहीं रही,

बुझ गये अब उस के इंतेज़ार के वो जलते दिए,

कहीं भी आस-पास उस की आहट नहीं रही.

 

तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है,

जिसका रास्ता बहुत खराब है,

मेरे ज़ख्म का अंदाज़ा न लगा,

दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है.

 

छोड़ दिया यारो किस्मत की

लकीरों पर यकीन करना,

जब लोग बदल सकते हैं

तो किस्मत क्या चीज.

 

इंसानों के कंधे पर इंसान जा रहे हैं,

कफ़न में लिपट कर कुछ अरमान जा रहे हैं,

जिन्हें मिली मोहब्बत में बेवफ़ाई,

वफ़ा की तलाश में वो कब्रिस्तान जा रहे हैं.

 

No comments:

Powered by Blogger.